स्लीप एप्निया: रोकथाम और जटिलताएं

स्लीप एप्निया – रोकथाम – स्वास्थ्यवर्धक भोजन लें। नियमित व्यायाम करें और उचित वजन बनाए रखें। धूम्रपान त्यागें।.

स्लीप एप्निया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

स्लीप एप्निया – आहार – लेने योग्य आहार: ताजे फल और सब्जियाँ तथा साबुत अनाज अधिक मात्रा में लें। कम वसायुक्त डेरी उत्पाद। स्वास्थ्यवर्धक वसा जैसे जैतून का तेल।

स्लीप एप्निया: लक्षण और कारण

स्लीप एप्निया – लक्षण – उनींदापन या दिन के समय की सजगता में कमी। सुबह के समय सिरदर्द होना। एकाग्र होने में असमर्थ होना। चिड़चिड़ाहट का अनुभव होना।. स्लीप एप्निया – कारण – स्लीप एप्निया उत्पन्न करने वाले कारकों में हैं: वजन का अधिक होना। ठोड़ी का गड्ढेनुमा होना। छोटा जबड़ा या जबड़े के ऊपरी हिस्से का अधिक बड़ा होना। उम्र का बढ़ना.

स्लीप एप्निया: प्रमुख जानकारी और निदान

स्लीप एप्निया एक सामान्य विकार है जिसमें नींद के दौरान श्वास में एक या कई अवरोध होते हैं या सांसें उथली होती हैं।.

इनसोम्निया (निद्राहीनता): रोकथाम और जटिलताएं

इनसोम्निया (निद्राहीनता) – रोकथाम – अपने शयनकक्ष को आरामदायक बनाएँ। ये निश्चित करें कि यह अंधकार युक्त, शांत और ज्यादा गर्म या ज्यादा ठंडा ना हो। प्रत्येक रात्रि को आपको शांति देने वाला कार्य या तरीका अपनाएँ।.

इनसोम्निया (निद्राहीनता): प्रमुख जानकारी और निदान

इनसोम्निया (नींद ना आना) निद्रा का विकार है, जो सोने और/या सोते रहने में कठिनाई द्वारा प्रदर्शित होता है। इसे निद्राहीनता भी कहा जाता है।.

इनसोम्निया (निद्राहीनता): लक्षण और कारण

इनसोम्निया (निद्राहीनता) – लक्षण – दिन के समय सोना। थकावट, चिड़चिड़ापन, एकाग्रता और स्मृति सम्बन्धी व्यवधान. इनसोम्निया (निद्राहीनता) – कारण – चिंता, अवसाद, स्ट्रेस, औषधियों द्वारा उत्पन्न निद्राहीनता।.

इनसोम्निया (निद्राहीनता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

इनसोम्निया (निद्राहीनता) – आहार – लेने योग्य आहार: साबुत अनाज का दलिया जैसे जई और ब्रेड्स, और अन्य काम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स। लीन रेड मीट और अन्य आयरन युक्त आहार। केमोमाइल चाय।

फाइब्रोमाएल्जिया (माँसपेशियों, हड्डियों का दर्द): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

फाइब्रोमाएल्जिया (माँसपेशियों, हड्डियों का दर्द) – आहार – लेने योग्य आहार: अनाज
, फल (सेब, अंगूर, क्रेनबेरी और स्ट्रॉबेरी)।
, सब्जियाँ (गाजर, पत्तागोभी, फूलगोभी, टमाटर, गहरी हरी पत्तेदार)।
,

फाइब्रोमाएल्जिया (माँसपेशियों, हड्डियों का दर्द): रोकथाम और जटिलताएं

फाइब्रोमाएल्जिया (माँसपेशियों, हड्डियों का दर्द) – रोकथाम – इसका कोई बचाव नहीं है, लेकिन नियमित व्यायाम लक्षणों के नियंत्रण में मदद करता है।.