गैस समस्या: जाने सब कुछ, कारणों से लेकर इसके इलाज तक

गैस समस्या गैस क्या है? अत्यधिक गैस, गैस की समस्या पैदा कर देती है और इसे कई तरह से वर्णित किया जाता है जैसे डकार आना, उबकाई आना, पादना या पेट फूलना। उदाहरण के लिए, आपके मुँह से निकलने वाले गैस को डकार और उबकाई कहते हैं, जबकि पेट फूलने पे, या पादने में गैस मलाशय से निकलती है। जब आपके पेट         और पढ़ें …

चाय से स्वास्थ्य लाभ के घरेलू उपाय

भोजन के तुरंत पश्चात चाय या कॉफ़ी लेने से परहेज करें क्योंकि ये भोजन से लौह तत्व लेने में बाधा उत्पन्न करते हैं।

व्यक्तिगत स्वच्छता टिप्स

भोजन के पहले और शौचालय के प्रयोग के बाद अपने हाथों को साबुन और पानी के प्रयोग से धोएँ। नियमित रूप से हाथ धोना आपको स्वस्थ रखता है और एंटीबायोटिक की जरूरत को कम करता है।

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख): रोकथाम और जटिलताएं

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख) – रोकथाम – कमजोर आँख में दृष्टि की स्थाई हानि से बचने के लिए, आलसी आँख के कारणों को पहचाना जाना चाहिए और जितना जल्दी हो उतना जल्दी उनका उपचार, बचपन के दौरान ही, करना चाहिए।.

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख) – आहार – लेने योग्य आहार: हरी, पत्तेदार सब्जियों जैसे केल और ब्रोकोली में पाए जाने वाले पोषक तत्व दृष्टि को बढ़ाने में मदद करते हैं।
, गाजर बीटा-कैरोटीन से समृद्ध होती हैं, जो कि धूप की क्षति से आपकी आँखों की रक्षा करता है।
, आँखों को स्वस्थ बनाए रखने में विटामिन सी आवश्यक है। खट्टे फल जैसे संतरे, आम, नीबू और ग्रेपफ्रूट आदि विटामिन सी से समृद्ध होते हैं।
,

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख): प्रमुख जानकारी और निदान

एम्ब्लियोपिया, जिसे सामान्य रूप से आलसी आँख कहा जाता है, बच्चों में पाई जाने वाली ऐसी स्थिति है, जब एक आँख में दृष्टि उचित प्रकार से विकसित नहीं हुई होती।.

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख): लक्षण और कारण

एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख) – लक्षण – दृष्टि में कमी। एक आँख जो बाहर या भीतर घूमती है।. एम्ब्लियोपिया (आलसी आँख) – कारण – अनुवांशिक विकार जो आँखों को प्रभावित करते हैं। गिरती पलकें। पलकों की गाँठ जो आँख की पुतली को अवरुद्ध कर देती है।l.

धुकधुकी: लक्षण और कारण

धुकधुकी लक्षण – लय छोड़ रहा है। अत्यंत तेज धड़क रहा है। सामान्य से अधिक पंप कर रहा है।. धुकधुकी कारण – भावनाएँ, औषधियाँ, चिकित्सीय स्थितियाँ, भोज्य पदार्थ।.

धुकधुकी: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

धुकधुकी आहार – लेने योग्य आहार: फल और सब्जियाँ, साबुत अनाज और कम वसा युक्त या वसाहीन डेरी उत्पाद।
, मछली का सेवन अधिक मात्रा में करें। खासकर सैलमन और मैकरील में ह्रदय को स्वस्थ रखने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड की उच्च मात्रा होती है।
, धुकधुकी में आराम देने के लिए दही भी सहायक होता है।
,

धुकधुकी: रोकथाम और जटिलताएं

धुकधुकी रोकथाम – तनाव ना लें और तम्बाकू का प्रयोग ना करें। उचित आहार। व्यायाम नियमित करें।.