घुटने का दर्द: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

घुटने का दर्द – आहार – लेने योग्य आहार: घुटने के दर्द हेतु लिए जाने वाले आहार में आर्गेनिक फल, जंगली मछली, आर्गेनिक मेवे और गिरियाँ, नारियल का तेल, एक्स्ट्रा वर्जिन आयल, और ओमेगा-3 अंडे। पालक में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो आपको ओस्टियोआर्थराइटिस और घुटनों के दर्द से दूर रखता है। मसाले जैसे दालचीनी, धनिये के बीज और हल्दी में शक्तिशाली सूजन-रोधी गुण होते हैं। अदरक अन्य प्रभावी मसाला है जो घुटने के दर्द को घटाता है।

घुटने का दर्द: रोकथाम और जटिलताएं

घुटने का दर्द – रोकथाम – घुटने के दर्द को हमेशा नहीं रोका जा सकता, लेकिन बचाव के बेहतर तरीकों में व्यायाम या खेलने से पहले स्ट्रेचिंग और वार्म अप करना होता है। उचित वजन बनाए रखें। जोर या खिंचाव डालने वाले व्यायाम करने के बाद विश्राम लेने से घुटनों में होने वाले दर्द को रोकने में सहायता मिलती है।.

घुटने का दर्द: प्रमुख जानकारी और निदान

घुटने का दर्द कई लोगों की आम शिकायत होता है। यह सभी आयु वर्ग के लोगों को प्रभावित करता है।.

घुटने का दर्द: लक्षण और कारण

घुटने का दर्द – लक्षण – घुटने के असंतुलित होने से चलने में कठिनाई। घुटने (घुटनों) में जकड़न या उन्हें मोड़ने या सीधा करने की असमर्थता। लालिमा, सूजन और गर्मी।. घुटने का दर्द – कारण – घुटने का दर्द चोटों, यांत्रिक समस्याओं, आर्थराइटिस के प्रकारों और अन्य समस्याओं के कारण उत्पन्न हो सकता है।.

गठिया: रोकथाम और जटिलताएं

गठिया रोकथाम – नियमित व्यायाम द्वारा वजन पर नियंत्रण, शराब का सीमित सेवन, प्यूरिन्स की अधिक मात्रा वाले मीट और मछली युक्त आहार को सीमित करना.

गठिया: लक्षण और कारण

गठिया लक्षण – प्रभावित जोड़ में तीव्र दर्द, सूजन, लालिमा, नाजुकपन, गर्मी और खुजली. गठिया कारण – अधिक मात्रा में शराब या प्युरीन लेना, मोटापा, अनुवांशिकता, सीसा (लैड) की चपेट (प्रभाव) में आना.

गठिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

गठिया आहार – लेने योग्य आहार: चेरीस में अन्थोसायनीडीन्स होते हैं जो यूरिक एसिड को घटाने में सहायक हैं. प्रतिदिन एक कप चेरीस, ताज़ी या डिब्बाबंद, खानी चाहिए. स्ट्रॉबरीस और ब्लूबेरीज भी लाभकारी होती हैं. सेब का सिरका, नीबू का रस, हल्दी, अदरक, केले, अन्नानास, बेरीज, अजमोदा, अंकुरित अल्फाल्फा और अजमोदा बीज ये सभी पोषक तत्व, एंजाइमस और अन्य गठिया-रोधी तत्व प्रदान करते हैं. पोटैशियम की अधिक मात्रा वाले आहार, जैसे कि डेरी उत्पाद, खरबूज, केले या संतरे का रस.

गठिया: प्रमुख जानकारी और निदान

जोड़ों में यूरिक एसिड क्रिस्टल्स जमा होने के कारण होने वाली सूजन को गठिया कहा जाता है. ये सामान्यतया अंगूठे की गठान या टखने को प्रभावित करता है.

आर्थराइटिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

आर्थराइटिस आहार – लेने योग्य आहार: ओमेगा-3 फैटी एसिड्स से समृद्ध आहार- समुद्री मछली, अलसी, अखरोट, समुद्री शैवाल, और सोयाबीन्स, भोजन पकाने में वनस्पति तेल या मक्खन के स्थान पर जैतून का तेल प्रयोग करें क्योंकि इसमें एक प्राकृतिक कम्पाउंड ओलियोकेंथल होता है जो आर्थराइटिस सम्बन्धी सूजन को रोकने में सहायक हो सकता है. विटामिन सी से समृद्ध आहार- अमरुद, शिमला मिर्च, संतरे, अंगूर, स्ट्रॉबेरीज, अन्नानास, कोल्हाबी, पपीता, नीबू, ब्रोकोली, केल(एक प्रकार की गोभी), आलू और ब्रसल अंकुरित आहार,

आर्थराइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

आर्थराइटिस रोकथाम – शारीरिक रूप से सक्रिय रहने के लिए नियमित व्यायाम करें, वजन को नियंत्रित रखें, अपने जोड़ों को चोट से बचाएँ, अल्कोहल लेने की मात्रा सीमित करें, धूम्रपान त्यागें.