गैस समस्या: जाने सब कुछ, कारणों से लेकर इसके इलाज तक

गैस समस्या गैस क्या है? अत्यधिक गैस, गैस की समस्या पैदा कर देती है और इसे कई तरह से वर्णित किया जाता है जैसे डकार आना, उबकाई आना, पादना या पेट फूलना। उदाहरण के लिए, आपके मुँह से निकलने वाले गैस को डकार और उबकाई कहते हैं, जबकि पेट फूलने पे, या पादने में गैस मलाशय से निकलती है। जब आपके पेट         और पढ़ें …

कब्ज़ और पाचन तंत्र को ठीक करने के 32 आसान घरेलु उपचार

टमाटर और आलू के रस में कुछ विशेष गुण होते हैं। ये रस चश्मे के निशानों को तेजी से साफ़ करते हैं, लेकिन आपको इन्हें रोज लगाना होगा। अपने दाग, धब्बों पर हमेशा ताजा कटे टमाटर या आलू लगाएँ। इसमें कुछ एसिड का प्रभाव होता है। दाग/धब्बों पर जब तक रख सकें, रखें। फिर हटाएँ और धो लें। यह क्रिया कुछ दिनों में आपकी नाक के निशानों को साफ कर देती है।

बच्चों में अतिसार: रोकथाम और जटिलताएं

बच्चों में अतिसार – रोकथाम – स्वच्छता और स्वास्थ्य की उचित स्थितियों को बनाए रखें। नहर, सोता, झील से पानी ना पियें। उचित टीकाकरण।.

बच्चों में अतिसार: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

बच्चों में अतिसार – आहार – लेने योग्य आहार: स्तनपान या बच्चों हेतु उपलब्ध फार्मूला (पिलाए जाने हेतु तैयार उत्पाद)। ताजे फल, सब्जियाँ। पानी और तरल पदार्थों की अधिक मात्रा।

बच्चों में अतिसार: लक्षण और कारण

बच्चों में अतिसार – लक्षण – बुखार, मलत्याग की आवृत्ति में बढ़ोतरी। भूख मरना और वजन गिरना। शरीर में पानी की कमी होना (निर्जलीकरण)।. बच्चों में अतिसार – कारण – वायरस, बैक्टीरिया और परजीवियों द्वारा उत्पन्न संक्रमण। भोजन विषाक्तता या किसी भोज्य पदार्थ की एलर्जी। स्वच्छता की अस्वास्थ्यकर स्थिति।.

बच्चों में अतिसार: प्रमुख जानकारी और निदान

पेट और आंत में बैक्टीरिया, वायरस और परजीवियों द्वारा उत्पन्न संक्रमण के कारण, पतले और पानी जैसे दस्त की बढ़ी हुई आवृत्ति, अतिसार कहलाती है।.

फ्लेंक दर्द: रोकथाम और जटिलताएं

फ्लेंक दर्द – रोकथाम – शराब त्यागें। तरल पदार्थ अधिक मात्रा में पियें।.

फ्लेंक दर्द: प्रमुख जानकारी और निदान

फ्लेंक दर्द शरीर के एक तरफ पेट के उपरी हिस्से और पीठ के बीच के क्षेत्र में होने वाले दर्द को कहा जाता है।.

फ्लेंक दर्द: लक्षण और कारण

फ्लेंक दर्द – लक्षण – घाव का निशान। बुखार और कंपकंपी। चक्कर आना। मूत्र में रक्त।. फ्लेंक दर्द – कारण – आर्थराइटिस या मेरुदंड का संक्रमण। डिस्क का रोग। मांसपेशियों की ऐंठन। गुर्दे की पथरी।.

फ्लेंक दर्द: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

फ्लेंक दर्द – आहार – लेने योग्य आहार इनसे परहेज करें: विटामिन ए की अधिक मात्रा वाले आहार खुबानी, केंटालूप, अल्फाल्फा, कद्दू, रतालू, स्क्वाश और गाजर।
, आपके गुर्दों की समस्याओं को ठीक करने में सहायक अन्य आहारों में तरबूज, अजमोदा, ककड़ी, लहसुन और पपीता आते हैं।
, तैलीय और मसालेदार आहार।
,