कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम: रोकथाम और जटिलताएं

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम – रोकथाम – आँखों का नियमित परीक्षण और देखने की उचित आदतें कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम से सम्बंधित लक्षणों के उत्पन्न होने को रोक सकती हैं या कम कर सकती हैं।.

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम: लक्षण और कारण

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम – लक्षण – शुष्क, उत्तेजित, थकी हुई और जलन युक्त आँखें। आँखों की लालिमा। सिरदर्द। थकावट (अत्यंत थकावट का एहसास)। दोहरा दिखाई देना। केन्द्रित होने की समस्या।. कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम – कारण – यदि आप बगैर सुविधाजनक तरीके और अनुचित प्रकार से कंप्यूटर पर काम करते हैं, और बार-बार विश्राम नहीं लेते हैं, तो आपको कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम हो सकता है।.

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम – व्यायाम – यदि आप नियमित रूप से कुछ लक्षण जैसे कि आँखों में तनाव, धुंधला दिखाई देना, सिरदर्द, चमकीले प्रकाश के प्रति बढ़ी संवेदनशीलता, थकी हुई आँखें, या ध्यान बनाए रखने में कठिनाई का अनुभव कर रहे हैं, तो आप आँखों के कुछ व्यायाम कर सकते हैं जैसे:
, एक मिनट तक हर तीन या चार सेकंड में आँखें झपकाना कॉर्निया को स्वच्छ करके और आँखों को आराम देकर आँखों का तनाव कम करता है।
, आँखों को ढंकना-कुछ सेकेंड के लिए दोनों हाथों की तीन-तीन उँगलियों द्वारा आँख की उपरी पलक को दबाएँ, फिर छोड़ें। यह प्रक्रिया कम से कम पाँच बार करने से आँखों की सिलिया माँसपेशियों में इकठ्ठा हुआ तनाव चला जाता है।
,

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम: प्रमुख जानकारी और निदान

कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम आँखों और दृष्टि से सम्बंधित समस्याओं का समूह है जो लम्बे समय तक कंप्यूटर स्क्रीन देखने से उत्पन्न होता है।.

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस: लक्षण और कारण

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस – लक्षण – गर्दन में दर्द। गर्दन में जकड़न। झुनझुनी और असामान्य एहसास।. सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस – कारण – अधिक वजनी होना और व्यायाम ना करना। कार्य गतिविधि। गर्दन की भूतकाल में हुई कोई शल्यक्रिया।.

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस – आहार – लेने योग्य आहार: सुबह लहसुन की 2-3 कलियाँ खाने से और लहसुन का तेल लगाने से गर्दन के दर्द में शीघ्र छुटकारा मिल सकता है।
, सेब, लहसुन, अदरक और हल्दी ये सभी सूजन कम करते हैं।
, ओमेगा 3 और विटामिन ई से भरे-पूरे आहार जैसे कि तैलीय बीज, मेवे और मछली भी जोड़ों की सूजन से राहत देते हैं।
,

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस: रोकथाम और जटिलताएं

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस – रोकथाम – खड़े रहते समय, बैठते समय, कंप्यूटर पर काम करते समय, वाहन चलाते समय, और सोते समय सही शारीरिक भंगिमा रखें। गर्दन की चोट के खतरे को कम करें।.

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस: प्रमुख जानकारी और निदान

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस एक आयु सम्बन्धी अपक्षयी विकार है जिसमें गर्दन (सर्वाइकल वर्टिब्रा-गर्दन के निकट मेरुदंड का हिस्सा) के तंतुओं और हड्डियों का असामान्य घिसाव होता है।.