सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस: लक्षण और कारण

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस के लक्षण

  • गर्दन का दर्द जो कन्धों और भुजाओं तक फ़ैल जाता है।
  • गर्दन में जकड़न जो समय के साथ और बढ़ती है।
  • कन्धों, भुजाओं, और (अपवादस्वरूप) पैरों में झुनझुनी या असामान्य एहसास।
  • सिरदर्द, खासकर सिर के पिछले हिस्से में।
  • संतुलन की कमी और चलने में कठिनाई।
  • मूत्राशय या आंत पर नियंत्रण में कमी।
Cervical spondylosis symptoms

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस के कारण

स्पोंडिलोसिस आयु सम्बन्धी अपक्षय है लेकिन यह किसी विशेष आयु वर्ग तक सीमित नहीं होता और किसी भी आयु के व्यक्ति को प्रभावित कर सकता है, हालाँकि, वृद्ध लोगों में संभावना ज्यादा होती है।
किसी व्यक्ति को स्पोंडिलोसिस उत्पन्न करने के उत्तरदायी कारकों में:
  • अधिक वजनी होना और व्यायाम ना करना।
  • कार्य गतिविधि
  • गर्दन में लगी कोई चोट (चाहे सालों पुरानी हो)
  • भूतकाल में रीढ़ की शल्यक्रिया हुई हो
  • जीन्स द्वारा
Cervical spondylosis causes    
स्पोंडिलोसिस, स्पोंडिलाईटिस, गर्दन में जकड़न, जकड़ी हुई गर्दन, अपक्षयी ओस्टियोआर्थराइटिस, गर्दन का दर्द, गर्दन में दर्द, झुनझुनी, गर्दन स्थित रीढ़, मेरुदंड, आर्थराइटिस, Cervical Spondylosis rog, Cervical Spondylosis ke lakshan aur karan, Cervical Spondylosis ke lakshan in hindi, Cervical Spondylosis symptoms in hindi,

Comments are closed.