उच्च रक्तचाप के लक्षण

उच्च रक्तचाप के लक्षण उच्च रक्तचाप एक ऐसी सामान्य समस्या है, जिसके लक्षण बहुत कम से न के बराबर हैं, जिसका मतलब है कि बहुत से लोग जिन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या है, यह भी नहीं जानते कि वे इस बीमारी से ग्रसित हैं। उच्च रक्तचाप से दिल की बीमारी, दिल के दौरे और स्ट्रोक के बढ़ते जोखिम का भी एक महत्वपूर्ण संकेत मिलता         और पढ़ें …

बच्चों में डेंगू बुखार: रोकथाम और जटिलताएं

बच्चों में डेंगू बुखार – रोकथाम – आपके द्वारा आपके बच्चे को बचाने का सर्वोत्तम तरीका वायरस फ़ैलाने वाले मच्छरों के विरुद्ध सुरक्षात्मक कदम उठाना है।.

बच्चों में डेंगू बुखार: लक्षण और कारण

बच्चों में डेंगू बुखार – लक्षण – तेज बुखार। बहती नाक। खाँसी, त्वचा पर हलके निशान।. बच्चों में डेंगू बुखार – कारण – डेंगू बुखार एडीज मच्छरों द्वारा फैलाए गए एक जैसे चार वायरसों द्वारा उत्पन्न होता है।.

बच्चों में डेंगू बुखार: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

बच्चों में डेंगू बुखार – आहार – लेने योग्य आहार: स्तनपान, ताजा रस (पपीता, संतरा, अंगूर आदि), सूप। बच्चों हेतु चावल का दलिया।

बच्चों में डेंगू बुखार: प्रमुख जानकारी और निदान

डेंगू बुखार एक उष्णकटिबंधीय रोग है जो मच्छरों द्वारा वहन किये गए वायरस द्वारा होता है। यह वायरस बुखार, सिरदर्द, निशान, और शरीर में दर्द उत्पन्न कर सकता है।.

न्यूरेल्जिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

न्यूरेल्जिया आहार – लेने योग्य आहार: विटामिन सी से समृद्ध फल और सब्जियाँ जैसे क्रेनबेरी, ब्रोकोली, स्ट्रॉबेरी, संतरे, ग्रेपफ्रूट, जामुन, करौंदे, टमाटर, केल और पालक लेने चाहिए क्योंकि विटामिन सी, जो कि जल में घुलनशील एंटीऑक्सीडेंट है और आपके प्रतिरक्षक तंत्र को शक्ति देता है, तंत्रिकाओं के दर्द को कम करता है। ओमेगा 3 वसीय अम्ल से समृद्ध आहार जैसे ठन्डे पानी की मछली, अलसी के बीज, अखरोट, सोयाबीन, केनोला तेल और कद्दू के बीज आदि लेने चाहिए क्योंकि ओमेगा 3 वसीय अम्ल शरीर में उपस्थित सूजन को कम करता है और तंत्रिकाओं की क्षति को रोकता है। पानी अधिक मात्रा में पियें और जल की अधिकता वाले आहार जैसे संतरे, शोरबा, लेट्युस, औषधीय चाय, आड़ू और अंगूर लेना चाहिए।

न्यूरेल्जिया: रोकथाम और जटिलताएं

न्यूरेल्जिया रोकथाम – सम्बंधित विकारों जैसे मधुमेह और गुर्दे की समस्या के उपचार करने पर कुछ प्रकार के न्यूरेल्जिया को रोका जा सकता है।.

न्यूरेल्जिया: प्रमुख जानकारी और निदान

न्यूरेल्जिया एक या अधिक तंत्रिकाओं में अनुभव होने वाले दर्द को समझाता है।.

न्यूरेल्जिया: लक्षण और कारण

न्यूरेल्जिया लक्षण – स्थान विशेष पर दर्द। प्रभावित क्षेत्र स्पर्श के प्रति असह्य रूप से संवेदनशील होता है, और किसी भी प्रकार का दबाव दर्द के रूप में महसूस होता है। प्रभावित तंत्रिका के आधार पर दर्द तीव्र या जलन युक्त हो सकता है।. न्यूरेल्जिया कारण – शिन्गल्स, संक्रमण, दबाव या चोट, सिफिलिस.

तनावयुक्त सिरदर्द: रोकथाम और जटिलताएं

तनावयुक्त सिरदर्द – रोकथाम – स्वस्थ जीवन शैली अपनाएँ। व्यवहार-बोध जनक चिकित्सा (यह चिकित्सा आपको तनाव घटाकर सिरदर्द की आवृत्ति कम करने में सहायता करती है)। विश्रान्तिदायक तकनीकें।.