बच्चों में साइनोसाइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

बच्चों में साइनोसाइटिस – रोकथाम – हर साल इन्फ्लुएंजा का टीका लगवाएँ। अपने हाथों को बार-बार, खासकर लोगों से हाथ मिलाने के बाद, जरूर धोएँ। शरीर में नमी बढ़ाने के लिए तरल पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन।.

बच्चों में साइनोसाइटिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

बच्चों में साइनोसाइटिस – आहार – लेने योग्य आहार निम्नलिखित आहार सूजन को कम कर सकते और रोक सकते हैं:: गर्म तरल और सूप का अधिक सेवन। मछली में उपस्थित ओमेगा 3 फैटी एसिड लाभकारी होता है। टार्ट चेरी और हल्दी।

बच्चों में साइनोसाइटिस: लक्षण और कारण

बच्चों में साइनोसाइटिस – लक्षण – साँस की बदबू या सूंघने की क्षमता की हानि। खाँसी जो अक्सर रात में बदतर हो जाती है। बुखार, सिरदर्द. बच्चों में साइनोसाइटिस – कारण – संक्रमण वायरस, बैक्टीरिया या फफूंद द्वारा उत्पन्न होता है।.

बच्चों में साइनोसाइटिस: प्रमुख जानकारी और निदान

जब साइनस संक्रमित, सूज या फूल जाते हैं तो इसे साइनोसाइटिस (या साइनस संक्रमण) कहा जाता है।.

फ्रंटल साइनोसाइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

फ्रंटल साइनोसाइटिस – रोकथाम – नाक का अवरोध दूर करने वाली औषधियों का प्रयोग सीमित रखें। खूब पानी पियें। स्वच्छ रहें।.

फ्रंटल साइनोसाइटिस: लक्षण और कारण

फ्रंटल साइनोसाइटिस – लक्षण – फ्रंटल साइनस में दर्द। सिरदर्द। साँस लेने में कठिनाई। नाक से द्रव बहना। गंध ना आना। खाँसी जो रात को बदतर हो जाती है।. फ्रंटल साइनोसाइटिस – कारण – वायरस द्वारा, बैक्टीरिया द्वारा या फफूंद द्वारा हुआ संक्रमण। धुआं, नाक का अवरोध दूर करने वाली औषधियों, रोग।.

फ्रंटल साइनोसाइटिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

फ्रंटल साइनोसाइटिस – आहार – लेने योग्य आहार इन्हें ना लें: खूब पानी पियें। ताजी पत्तेदार सब्जियाँ और फल। केन मिर्च, लहसुन, प्याज और मूली का प्रयोग सूप और भोजन में करें, ताकि बलगम की अधिक मात्रा घुलकर बाहर निकल सके।

फ्रंटल साइनोसाइटिस: प्रमुख जानकारी और निदान

जब आपके माथे के पीछे स्थित छिद्रदार संरचनाएँ, साइनस (नाक के ऊपर और आँखों के बिलकुल पीछे) सूज जाती हैं, तो इसे फ्रंटल साइनोसाइटिस कहते हैं।.