घ्राणहीनता – सूंघ न पाना: प्रमुख जानकारी और निदान

एनोस्मिया (घ्राणहीनता) सूंघने की शक्ति की आंशिक अथवा पूर्ण हानि है। आमतौर पर यह गंभीर नहीं होता।.

घ्राणहीनता – सूंघ न पाना: लक्षण और कारण

घ्राणहीनता – सूंघ न पाना – लक्षण – सूंघने की क्षमता की हानि। सूंघने की क्षमता में कमी। स्वाद की क्षमता में विकार।. घ्राणहीनता – सूंघ न पाना – कारण – नाक अथवा साइनस (नाक के भीतरी छिद्र) की शल्यक्रिया अथवा उनमें रोग। प्राकृतिक रूप से उम्र का बढ़ना। ऊपरी श्वसन तंत्र का संक्रमण। विकिरण चिकित्सा।.

घ्राणहीनता – सूंघ न पाना: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

घ्राणहीनता – सूंघ न पाना – व्यायाम – पसीना नाक के भीतर के अवरोध को खोलता है, इसलिए नाक में भरा हुआ लगने के एहसास को कम करने के लिये कुछ हलके व्यायाम करें।

घ्राणहीनता – सूंघ न पाना: रोकथाम और जटिलताएं

घ्राणहीनता – सूंघ न पाना – रोकथाम – प्रदूषण युक्त क्षेत्र में न रहें। धूम्रपान त्यागें। नाक का अवरोध खोलने वाली औषधियों का अत्यधिक प्रयोग नहीं करें।.

फ्लेचुलंस (पेट में गैस): लक्षण और कारण

फ्लेचुलंस (पेट में गैस) – लक्षण – अनियंत्रित उदर वायु। दुर्गन्ध युक्त पाद। पेट फूलना। पेट में दर्द। पेट में गांठ बंधा हुआ एहसास होना।. फ्लेचुलंस (पेट में गैस) – कारण – निगली हुई हवा। आहार का चयन। स्वास्थ्य स्थितियाँ।.

फ्लेचुलंस (पेट में गैस): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

फ्लेचुलंस (पेट में गैस) – आहार – लेने योग्य आहार: अदरक अव्यवस्थित पेट को ठीक करती है और पाचन तंत्र को शांत करती है।
, एक चम्मच सादा शहद अत्यधिक वायु होने को रोकता है।
, पेपरमिंट, दालचीनी, सौंफ और अलसी के बीज वायु कम करने में सहायक होते हैं।
,

फ्लेचुलंस (पेट में गैस): रोकथाम और जटिलताएं

फ्लेचुलंस (पेट में गैस) – रोकथाम – कार्बन युक्त पेयों से परहेज। खाना धीमी गति से खाएँ। जिनसे हवा निकलती है ऐसे आहारों से परहेज करें। धूम्रपान ना करें।.

फ्लेचुलंस (पेट में गैस): प्रमुख जानकारी और निदान

फ्लेचुलंस (उदर वायु) चिकित्सीय शब्द है जो पाचन तंत्र द्वारा गुदा मार्ग से उत्सर्जित होने वाली वायु के लिए प्रयुक्त होता है। आम भाषा में इसे पादना, हवा छोड़ना या गैस होना कहा जाता है।.