गठिया: रोकथाम और जटिलताएं

गठिया रोकथाम – नियमित व्यायाम द्वारा वजन पर नियंत्रण, शराब का सीमित सेवन, प्यूरिन्स की अधिक मात्रा वाले मीट और मछली युक्त आहार को सीमित करना.

गठिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

गठिया आहार – लेने योग्य आहार: चेरीस में अन्थोसायनीडीन्स होते हैं जो यूरिक एसिड को घटाने में सहायक हैं. प्रतिदिन एक कप चेरीस, ताज़ी या डिब्बाबंद, खानी चाहिए. स्ट्रॉबरीस और ब्लूबेरीज भी लाभकारी होती हैं. सेब का सिरका, नीबू का रस, हल्दी, अदरक, केले, अन्नानास, बेरीज, अजमोदा, अंकुरित अल्फाल्फा और अजमोदा बीज ये सभी पोषक तत्व, एंजाइमस और अन्य गठिया-रोधी तत्व प्रदान करते हैं. पोटैशियम की अधिक मात्रा वाले आहार, जैसे कि डेरी उत्पाद, खरबूज, केले या संतरे का रस.

गठिया: लक्षण और कारण

गठिया लक्षण – प्रभावित जोड़ में तीव्र दर्द, सूजन, लालिमा, नाजुकपन, गर्मी और खुजली. गठिया कारण – अधिक मात्रा में शराब या प्युरीन लेना, मोटापा, अनुवांशिकता, सीसा (लैड) की चपेट (प्रभाव) में आना.

गठिया: प्रमुख जानकारी और निदान

जोड़ों में यूरिक एसिड क्रिस्टल्स जमा होने के कारण होने वाली सूजन को गठिया कहा जाता है. ये सामान्यतया अंगूठे की गठान या टखने को प्रभावित करता है.

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस – रोकथाम – वजन कम करें यदि आपका वजन अधिक है। नियमित व्यायाम करें। शारीरिक रूप से सक्रिय रहें। चोटों से बचें।.

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस – आहार – लेने योग्य आहार: फल, सब्जियाँ, मेवे, जैतून का तेल, और मछली अधिक मात्रा में खाएँ। छना हुआ पानी अधिक मात्रा में पियें। अदरक, हल्दी और हरी चाय में सूजन को कम करने के गुण होते हैं।

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस: लक्षण और कारण

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस – लक्षण – प्रभावित जोड़ में दर्द, जकड़न, सूजन और पीड़ा। माँसपेशियों में कमजोरी और जोड़ों को घुमाने में कठिनाई।. रह्युमेटोइड आर्थराइटिस – कारण – आरए जोड़ों के कार्टिलेज (उपास्थि) को एंटीबाडी द्वारा पहुँचाई गई क्षति से होता है।.

रह्युमेटोइड आर्थराइटिस: प्रमुख जानकारी और निदान

आरए जोड़ों की सूजन को कहते हैं खासकर हाथों और पैरों की उँगलियों के जोड़ों की सूजन।.