इओसिनोफिलिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

परहेज और आहार

लेने योग्य आहार
  • अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करें और सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त विटामिन और प्रोटीन प्राप्त कर रहे होने हरे पत्तेदार सब्जियों और ताजे फलों की खपत को बढा के।
  • शहद, हल्दी, काली मिर्च, लहसुन, अदरक आपकी प्रतिरक्षा को मज़बूत करते हैं।
खोज में पाया गया है कि इस बीमारी के प्रमुख कारणों में से एक खाद्य एलर्जी है। इसलिए उन खाद्य पदार्थों जिस से आपको एलर्जी होती हैं – उनसे परहेज़ करना बेहतर है।

योग और व्यायाम

रक्त में इओसिनोफिल की मात्रा को कम करने में सहायक योगासन:
  • त्रिकोणप्रणामासन
  • सूर्य नमस्कार
  • वज्रासन
  • शशांकासन
प्राणायाम श्वसन तंत्र की माँसपेशियों के लिए लाभकारी होते हैं।

घरेलू उपाय (उपचार)

  • अपने भाप के पानी में नीलगिरी की कुछ बूंदों डाले, इससे बलगम को नरम और साफ़ करने में मदद मिलेगी।
  • अपनी चाय में कुछ कुचले हुए अदरक या थोड़ा अदरक का रस डाले, इस समस्या का इलाज करने में कुछ हद तक मदद करेगी।
  • आप पानी में काली मिर्च पाउडर और शहद का मिश्रण भी ले सकते हैं। इस घोल के दो बार के सेवन से आप अपनी प्रतिरक्षा भी सुधार सकते हैं।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पियें।
  • 2 बड़े चम्मच मेथी को पानी में उबाल के उसे ग़रारा करें।
   
इओसिनोफिलिया, इओसिनोफिल्स, श्वेत रक्त कणिकाएँ (डब्लूबीसी), श्वेत रक्त कणिकाएँ, रक्त विकार, हेमोटोलोजी, हीमेटोलोजी, निओप्लास्टिक इओसिनोफिलिया, इओसिनोफिलिया – आयुर्वेदिक दवा और इलाज, Eosinophilia rog, Eosinophilia ka gharelu upchar, upay, Eosinophilia me parhej, Eosinophilia ka ilaj, Eosinophilia ki dawa, Eosinophilia treatment in hindi,

Comments are closed.