स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा: प्रमुख जानकारी और निदान

निद्रा का लकवा (स्लीप पैरालिसिस) अस्थाई रूप से बोलने अथवा गति करने की अक्षमता है, जो आपके नींद से जागने पर और, अपवादस्वरूप, सो जाने पर होता है।.

स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा: लक्षण और कारण

स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा – लक्षण – चलने अथवा गति करने में अस्थाई अक्षमता। हेलुसिनेशन, श्वासहीनता, असमंजस, भय, असहायता. स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा – कारण – तनाव और चिंता, अवसाद, बाइपोलर डिसऑर्डर। पीठ के बल सोना। नींद का समय नियमित ना होना।.

स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा – आहार – लेने योग्य आहार इनसे परहेज करें: फल और सब्जियाँ, दूध, शराब,

स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा: रोकथाम और जटिलताएं

स्लीप पैरालिसिस – नींद का लकवा – रोकथाम – अपनी पीठ के बल ना सोएँ। तनाव ना लें। सोने से 5 घंटे पहले से चाय या कॉफ़ी ना पियें। अच्छी और नियमित नींद लें।.

लकवा (पैरालिसिस): रोकथाम और जटिलताएं

लकवा (पैरालिसिस) – रोकथाम – बीपी और कोलेस्ट्रॉल स्तर नियंत्रित करें। गर्भावस्था में उचित देखभाल। नियमित व्यायाम। उचित आहार।.

लकवा (पैरालिसिस): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

लकवा (पैरालिसिस) – आहार – लेने योग्य आहार इनसे परहेज करें: विटामिन बी काम्प्लेक्स जैसे नायसिन और विटामिन बी12 युक्त भोज्य पदार्थ।
, वसीय अम्ल युक्त आहार जैसे केले, फलियाँ, दालें, पोषक खमीर, आलू, कद्दू के बीजों का तेल, अखरोट, संतरे, हरी सब्जियाँ, और कम वसा युक्त दूध
, कम और बार-बार खाना और आहार की कम मात्रा।
,

लकवा (पैरालिसिस): लक्षण और कारण

लकवा (पैरालिसिस) – लक्षण – अनुभव करने, गति करने, मूत्र पर नियंत्रण और मलत्याग पर नियंत्रण की शक्ति की हानि। माँसपेशियों का सख्त होना, झुनझुनी और सनसनाहट, दर्द। दिखाई देने में अवरोध, बोलने में कठिनाई. लकवा (पैरालिसिस) – कारण – तंत्रिका तंत्र को क्षति। मस्तिष्क आघात, ट्यूमर, और शारीरिक आघात। विकिरण, चिकित्सीय स्थितियाँ.

लकवा (पैरालिसिस): प्रमुख जानकारी और निदान

लकवा (पैरालिसिस) एक या अधिक माँसपेशियों को संचालित करने की क्षमता की हानि को कहते हैं जिसके कारण अनुभव करने में और अन्य शारीरिक कार्यों में भी अक्षमता उत्पन्न होती है।.

हाइपरहाइड्रोसिस (अत्यधिक पसीना आना): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

हाइपरहाइड्रोसिस (अत्यधिक पसीना आना) – आहार – लेने योग्य आहार: पानी अधिक मात्रा में पियें।
, औषधियुक्त चाय
, फल
,

हाइपरहाइड्रोसिस (अत्यधिक पसीना आना): रोकथाम और जटिलताएं

हाइपरहाइड्रोसिस (अत्यधिक पसीना आना) – रोकथाम – कैफीन की मात्रा कम करें। नियमित व्यायाम करें। डिओडोरेंट, गर्म स्नान, तंग कपड़े, शराब, धूम्रपान, ड्रग्स उपयोग में ना लें।.