ऐसा लगा जैसे मेरा जीवन समाप्त होने वाला है- हृदयाघात या हाइपरवेंटिलेशन?

ये 13 जुलाई 2015 की सुबह लगभग 8 बजे की बात है, मैं ट्रैफिक जाम के बीचोंबीच, अस्पताल जाने की जल्दी में था, मेरा बाँया हाथ पूरी तरह जकड़ा हुआ था, होंठ और पैर थरथरा रहे थे। ऐसा लग रहा था कि यह मेरा अंत समय है, और मैं आज मरने वाला हूँ। अस्पताल पहुँचने में मुझे 15 मिनट लगे         और पढ़ें …

हाइपरटेंशन: रोकथाम और जटिलताएं

हाइपरटेंशन रोकथाम – उचित वजन बनाये रखना, धूम्रपान त्यागें, स्वस्थ आहार लेना, अपने आहार में नमक की मात्रा कम करना.

हाइपरटेंशन: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

हाइपरटेंशन आहार – लेने योग्य आहार हाइपरटेंशन से मुकाबला करके प्रतिदिन आपको उचित पोषण देने वाले प्रधान 10 आहार हैं:: हाइपरटेंशन से सामंजस्य स्थापित करने के लिए फाइबर और पोटैशियम युक्त तथा कम संतृप्त वसा वाले आहार लेने चाहिए। फल, सब्जियाँ, साबुत अनाज और कम वसा वाले डेरी उत्पादों की उचित मात्रा आवश्यक है।
, आहार में प्रतिदिन दो से तीन बार साबुत अनाज और उनके उत्पाद जैसे कि भूरे चावल, मल्टीग्रेन ब्रेड, ताज़ी सब्जियों की अधिक मात्रा और तीन से चार बार फल लेने चाहिए।
, डेरी उत्पाद जैसे कि दूध, पनीर, और दही लिए जा सकते हैं किन्तु ये कम वसा वाले होने चाहिए। पोल्ट्री उत्पाद (अंडे की सफेदी और चूजे से प्राप्त सफ़ेद गोश्त) और समुद्री आहार लिए जा सकते हैं। साथ ही विभिन्न मेवे, गिरी, दालें और फलियाँ भी ली जानी चाहिए।
,

हाइपरटेंशन: प्रमुख जानकारी और निदान

हाइपरटेंशन, जिसे कि उच्च रक्त चाप भी कहा जाता है, ऐसी स्थिति है जिसमें रक्त वाहिनियों में रक्त का दबाव लगातार बढ़ा हुआ होता है।.

हाइपरटेंशन: लक्षण और कारण

हाइपरटेंशन लक्षण – तीव्र सिरदर्द, थकावट या असमंजस की स्थिति, चक्कर आना, मतली, दृष्टि की समस्या. हाइपरटेंशन कारण – धूम्रपान, मोटापा, मधुमेह, नमक सेवन का बढ़ा हुआ स्तर.

कोरोनरी आर्टरी डिजीज: रोकथाम और जटिलताएं

कोरोनरी आर्टरी डिजीज – रोकथाम – नियमित व्यायाम द्वारा उचित वजन बनाये रखें। मदिरापान कम करें। धूम्रपान त्यागें। तनाव को नियंत्रित करें।.

कोरोनरी आर्टरी डिजीज: प्रमुख जानकारी और निदान

सीएडी कोरोनरी धमनियों में इकट्ठी वसा के जमा होने को कहा जाता है, जो धमनियों की दीवारों को क्षतिग्रस्त करता है, और ह्रदय को रक्त के प्रवाह में कमी हो जाती है।.

कोरोनरी आर्टरी डिजीज: लक्षण और कारण

कोरोनरी आर्टरी डिजीज – लक्षण – छाती में तीव्र दर्द। साँस में कमी। पेल्पीटेशंस (अनियमित हृदयगति)। कमजोरी और चक्कर आना।. कोरोनरी आर्टरी डिजीज – कारण – अनुवांशिकता, धूम्रपान। उच्च रक्त चाप और मधुमेह। मोटापा। तनाव।.

कोरोनरी आर्टरी डिजीज: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

कोरोनरी आर्टरी डिजीज – आहार – लेने योग्य आहार वनस्पति स्रोत के आहार जैसे कि साबुत अनाज, फलियाँ, मेवे, फल और सब्जियाँ ह्रदय रोग के खतरे को कम करती हैं। शरीर में जल का स्तर पर्याप्त बनाये रखने के लिए अधिक मात्रा में पानी पीयें। आहार जो ह्रदय रोग से बचाव हेतु सर्वोत्तम हैं, उनमें:: तैलीय मछलियाँ जैसे कि मकरेल, सारडाईन, ट्यूना, और सैल्मोन जिनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं। कुछ वनस्पति तेल जैसे कि मक्का, सोया, और सूरजमुखी जिनमें ओमेगा-6 फैटी एसिड्स और राई तथा जैतून का तेल जिनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं। फाइबर, साबुत अनाज और फल तथा सब्जियाँ।

कंजेस्टिव हार्ट डिजीज (दिल में रुकावट): प्रमुख जानकारी और निदान

कंजेस्टिव हार्ट डिजीज एक ऐसी स्थिति है जिसमें ह्रदय शरीर की आवश्यकता के अनुसार रक्त पंप नहीं कर पाता।.