थैलेसीमिया: रोकथाम और जटिलताएं

थैलेसीमिया रोकथाम – इसे रोका नहीं जा सकता, लेकिन जीन सम्बन्धी सलाहकार का मार्गदर्शन सहायक हो सकता है।.

थैलेसीमिया: प्रमुख जानकारी और निदान

थैलेसीमिया रक्त सम्बन्धी वंशानुगत रोग है जिसमें आपके शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा सामान्य से कम और लाल रक्त कणिकाएँ केवल थोड़ी मात्रा में ही होती हैं।.

थैलेसीमिया: लक्षण और कारण

थैलेसीमिया लक्षण – कमजोर, थकावट, साँस लेने में कमी, मुरझाये हुए दिखाई देना, धीमे विकास होना, गहरे रंग का मूत्र. थैलेसीमिया कारण – हीमोग्लोबिन निर्माण करने वाली कोशिकाओं के डीएनए में परिवर्तन होते हैं। ये माता-पिता से बच्चों में आते हैं।.

थैलेसीमिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

थैलेसीमिया आहार – लेने योग्य आहार इनसे परहेज करें: कैल्शियम युक्त आहार अधिक मात्रा में लें। यह हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए अत्यंत जरूरी है। डेरी उत्पाद कैल्शियम का अच्छा स्रोत हैं। एक अतिरिक्त लाभ यह भी है कि डेरी उत्पाद शरीर के आयरन अवशोषण की क्षमता को कम करते हैं। कैल्शियम के अवशोषण के लिए शरीर को विटामिन डी की आवश्यकता होती है। विटामिन डी अण्डों, डेरी उत्पादों और मछली में मिलता है। तरबूज, पालक, खुबानी, हरी पत्तेदार, एस्पार्गस, आलू, खजूर, किशिमिस, ब्रोकोली, फलियाँ, मटर, सूखी फलियाँ, दालें,

सिलिअक रोग: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

सिलिअक रोग – आहार – लेने योग्य आहार: ग्लूटेन रहित और पोषण युक्त आहार लेने चाहिए। कैल्शियम युक्त आहारों में दूध, दही, पनीर, मछली, ब्रोकोली, कोलार्ड ग्रीन, बादाम, कैल्शियम की शक्तियुक्त रस, और चौलाई। आयरन समृद्ध आहारों में मीट, मछली, चिकन, फलियाँ, मेवे, गिरियाँ, अंडे और चौलाई आदि आते हैं।

सिलिअक रोग: रोकथाम और जटिलताएं

सिलिअक रोग – रोकथाम – ग्लूटेन रहित आहार लेकर सिलिअक रोग के उभरने को रोक सकते हैं।.

सिलिअक रोग: प्रमुख जानकारी और निदान

सिलिअक डिजीज जिसे सिलिअक स्प्रू या ग्लूटेन-संवेदी आंतरोग भी कहा जाता है, पाचन और स्व-प्रतिरक्षी रोग है जो ग्लूटेन युक्त भोजन लेने के परिणामस्वरूप छोटी आंत की परतों की क्षति के रूप में दिखाई पड़ता है।.

सिलिअक रोग: लक्षण और कारण

सिलिअक रोग – लक्षण – अपच, मंद पेटदर्द। पेट फूलना। कभी-कभी आंत की प्रवृत्ति में बदलाव होना, जैसे मंद अतिसार या कब्ज के प्रकरण।. सिलिअक रोग – कारण – सिलिअक डिजीज स्व-प्रतिरक्षी स्थिति है जो ग्लूटेन प्रोटीन, जो कि ब्रेड, पास्ता, दलिया और बिस्कुट में पाया जाता है, के लिए असामान्य प्रतिरक्षी प्रतिक्रिया से उत्पन्न होती है।.