टिनिटस (कान बजना): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

टिनिटस (कान बजना) – आहार – लेने योग्य आहार: रक्तसंचार को बढ़ाने हेतु ढेर सारा ताजा अन्नानास खाएँ। लहसुन के गंधरहित कैप्सूल लें या उन्हें भोजन में पका लें। लहसुन सूजन घटाने और संचार बढ़ाने इन दोनों कार्यों में सहायक होता है। अपने कच्चे फल, हरी सब्जियों और पकी दालों (फलियों) के सेवन को बढ़ाएं। यह आहार विटामिनों, एमिनो एसिड्स और वनस्पतिजन्य यौगिकों से समृद्ध होता है जो भीतरी कान की सूजन को कम करने में सहायक होते हैं।

टिनिटस (कान बजना): रोकथाम और जटिलताएं

टिनिटस (कान बजना) – रोकथाम – अत्यधिक शोर के संपर्क में ना रहें। शोर की स्थिति में इयरप्लग लगाएं। घास काटते समय कानों को ढंकें।.

टिनिटस (कान बजना): लक्षण और कारण

टिनिटस (कान बजना) – लक्षण – घंटी बजना, भिनभिनाहट, दहाड़ना, खटखटाना, फुसफुसाहट, सीटी बजने या जोर से चिल्लाने की आवाज होना।. टिनिटस (कान बजना) – कारण – कई प्रकार की चिकित्सीय स्थितियाँ टिनिटस उत्पन्न कर सकती हैं या बदतर कर सकती हैं। कई मामलों में, निश्चित कारण कभी मालूम नहीं पड़ता।.

टिनिटस (कान बजना): प्रमुख जानकारी और निदान

टिनिटस, लोगों द्वारा एक कान, दोनों कान या सिर के भीतर सुनाई देने वाली आवाजों को समझाने हेतु चिकित्सीय शब्द है। आवाजें घंटी बजने, भिनभिनाने या सीटी के समान हो सकती हैं।.

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन) – आहार – लेने योग्य आहार: बच्चों को स्तन पान कराना चाहिए।
, विटामिन सी, ए और जिंक से समृद्ध आहारों की सलाह दी जाती है।
, ताजा फल और सब्जियाँ।
,

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन): रोकथाम और जटिलताएं

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन) – रोकथाम – अपने कानों को सूखा रखें। तैराकी की टोपी पहनें। प्रदूषित क्षेत्रों में ना जाएँ। पिन, फाहे और ऊँगली का प्रयोग ना करें।.

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन): प्रमुख जानकारी और निदान

यह बाहरी कान और कान की नली की सूजन है। इससे स्विमर्स इयर (तैराक का कान) या बाहरी कान की सूजन भी कहते हैं। यह दीर्घ (क्रोनिक), तीव्र (एक्यूट) या स्थानिक (लोकलाइस्ड) हो सकता है। <.

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन): लक्षण और कारण

ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन) – लक्षण – कान में दर्द, कान में दबाव या भरेपन का एहसास। कान में सूजन अथवा लालिमा। श्रवण शक्ति में कमी। कान की नली के अन्दर और आस-पास खुजली और उत्तेजना।. ओटाइटिस एक्स्टर्ना (बाहरी कान की सूजन) – कारण – वायरस, बैक्टीरिया या फफूंद द्वारा उत्पन्न संक्रमण।.