फ्लेंक दर्द: प्रमुख जानकारी और निदान

फ्लेंक दर्द शरीर के एक तरफ पेट के उपरी हिस्से और पीठ के बीच के क्षेत्र में होने वाले दर्द को कहा जाता है।.

फ्लेंक दर्द: लक्षण और कारण

फ्लेंक दर्द – लक्षण – घाव का निशान। बुखार और कंपकंपी। चक्कर आना। मूत्र में रक्त।. फ्लेंक दर्द – कारण – आर्थराइटिस या मेरुदंड का संक्रमण। डिस्क का रोग। मांसपेशियों की ऐंठन। गुर्दे की पथरी।.

फ्लेंक दर्द: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

फ्लेंक दर्द – आहार – लेने योग्य आहार इनसे परहेज करें: विटामिन ए की अधिक मात्रा वाले आहार खुबानी, केंटालूप, अल्फाल्फा, कद्दू, रतालू, स्क्वाश और गाजर।
, आपके गुर्दों की समस्याओं को ठीक करने में सहायक अन्य आहारों में तरबूज, अजमोदा, ककड़ी, लहसुन और पपीता आते हैं।
, तैलीय और मसालेदार आहार।
,

फ्लेंक दर्द: रोकथाम और जटिलताएं

फ्लेंक दर्द – रोकथाम – शराब त्यागें। तरल पदार्थ अधिक मात्रा में पियें।.

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण): रोकथाम और जटिलताएं

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण) – रोकथाम – तरल पदार्थ, खासकर पानी, अधिक मात्रा में पियें। अपने बच्चे को स्तनपान करवाने से उनमें यूटीआई विकसित होने की संभावना कम होती है। रोग का शीघ्र निर्धारण और शीघ्र चिकित्सा।.

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण): लक्षण और कारण

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण) – लक्षण – कंपकंपी के साथ बुखार। रोना या अन्य संकेत से बताना कि मूत्रत्याग दर्दयुक्त है। झागयुक्त, गहरा, रक्तयुक्त या दुर्गन्धयुक्त मूत्र।. बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण) – कारण – आमतौर पर आंत में रहने वाले बैक्टीरिया यूटीआई उत्पन्न करते हैं।.

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण) – आहार – लेने योग्य आहार: चिकन, नारियल तेल। अंडे की जर्दी।

बच्चों का UTI (मूत्र मार्ग का संक्रमण): प्रमुख जानकारी और निदान

यूटीआई तब उत्पन्न होता है जब बैक्टीरिया मूत्र मार्ग को, जो गुर्दों, मूत्रवाहिनियों, मूत्राशय और मूत्रनलिका से मिलकर बना होता है, संक्रमित कर देते हैं।.

डिस्यूरिया (दर्द्युक्त मूत्रत्याग): प्रमुख जानकारी और निदान

डिस्यूरिया मूत्रत्याग के दौरान होने वाले दर्द और असहजता हेतु प्रयुक्त किया जाने वाला चिकित्सीय शब्द है।.

डिस्यूरिया (दर्द्युक्त मूत्रत्याग): लक्षण और कारण

डिस्यूरिया (दर्द्युक्त मूत्रत्याग) – लक्षण – दर्द्युक्त मूत्रत्याग के लक्षण पुरुषों और महिलाओं में अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन दोनों को ही इसमें जलन, बदबू, या खुजली का एहसास होता है और उन्हें बार-बार मूत्रत्याग की आवश्यकता महसूस हो सकती है।. डिस्यूरिया (दर्द्युक्त मूत्रत्याग) – कारण – डिस्यूरिया का सबसे आम कारण मूत्रमार्ग (मूत्रनलिका, मूत्राशय या गुर्दे) का संक्रमण है।.