वायरल सिंड्रोम: रोकथाम और जटिलताएं

वायरल सिंड्रोम – रोकथाम – अपने हाथों को नियमित साबुन और पानी से धोएँ या अल्कोहल आधारित जेल का प्रयोग करें। पीने के गिलास या खाने के बर्तनों का बांटकर उपयोग ना करें। टीकाकरण.

वायरल सिंड्रोम: लक्षण और कारण

वायरल सिंड्रोम – लक्षण – बुखार और कंपकंपी। बहती और भरी हुई नाक। खाँसी, गले में पीड़ा या आवाज भर्राना।. वायरल सिंड्रोम – कारण – वायरस के ऐसे लगभग 900 विभिन्न प्रकार हैं जो मनुष्यों को संक्रमित कर सकते हैं।.

वायरल सिंड्रोम: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

वायरल सिंड्रोम – आहार – लेने योग्य आहार: वायरल रोग के दौरान शरीर में पानी के स्तर को बनाए रखने के लिए पानी अधिक मात्रा में पियें। फल और सब्जियों की अधिकता वाला आहार सामान्य सर्दी सहित कई प्रकार के संक्रमण और रोगों को रोकने में सहायक होता है। विशेष रूप से प्रतिरक्षक तंत्र हेतु लाभकारी फल और सब्जियों में चेरी, बेरियाँ, टमाटर, संतरे, ग्रेपफ्रूट, खट्टे रस, केले, ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स और पत्तागोभी आते हैं। ज्यादा से ज्यादा ताजे फल और सब्जियाँ लें क्योंकि वे सर्वाधिक पोषक घटक प्रदान करते हैं। सूजन और अवरोध युक्त वायरल संक्रमणों को रोकने या कम करने के लिए विभिन्न सब्जियों से मिलाकर घर पर बने सूप या प्राकृतिक सूप का सेवन करें।

वायरल सिंड्रोम: प्रमुख जानकारी और निदान

वायरल सिंड्रोम किसी एक वायरस या विभिन्न प्रकार के वायरस द्वारा उत्पन्न संक्रमण है जो अधिकतर श्वसन तंत्र को प्रभावित करता है। लेकिन ये शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकता है।.

डिफ्थीरिया: रोकथाम और जटिलताएं

डिफ्थीरिया रोकथाम – टीकाकरण। रोग का शीघ्र निर्धारण और चिकित्सा।.

डिफ्थीरिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

डिफ्थीरिया आहार – लेने योग्य आहार: तरल (फलों का रस)।
, दूध।
, लहसुन।
,

डिफ्थीरिया: लक्षण और कारण

डिफ्थीरिया लक्षण – उच्च तापमान वाला बुखार। गले में खराश। बैठी हुई आवाज (गहरा और भारी स्वर)। कंपकंपी।. डिफ्थीरिया कारण – कोराइनीबेक्टेरियम डिफ्थीरी द्वारा डिफ्थीरिया होता है।.

डिफ्थीरिया: प्रमुख जानकारी और निदान

डिफ्थीरिया ऊपरी श्वसन तंत्र का रोग है जो कोराइनीबेक्टेरियम डिफ्थीरी द्वारा होता है।.