चिकनगुनिया: रोकथाम और जटिलताएं

रोकथाम (बचाव)

चिकनगुनिया से बचाव के लिये निम्नलिखित उपाय किये जा सकते हैं।
  • मच्छरों का पनपना रोकने के लिए घर, विद्यालय, और कार्यस्थल पर रुके हुए पानी को हटाएँ।
  • डीईईटी, इकेरिडिन, पीएमडी, या आईआर3535 के उपयोग से बने कीट रोधकों का प्रयोग करें।
  • त्वचा के खुले हिस्से पर मच्छर रोधी क्रीम लगाएँ।
  • जो कमरे वातानुकूलित नहीं हैं वहां मच्छरों को रोकने के लिए जालियाँ लगाएँ।
  • मच्छरों से बचाव के लिए हल्के रंगों वाले और अधिक लम्बाई वाले कपड़े पहनें।
Chikungunya prevention 1

ध्यान देने की बातें

  • जोड़ों में अत्यधिक दर्द, गति करने में कठिनाई।
  • कभी-कभी आँख की पलक के भीतरी हिस्से में संक्रमण हो सकता है और प्रकाश से भी थोड़ी असुविधा हो सकती है।
  • रक्तस्राव (बहुत कम ही होता है)।

डॉक्टर को कब दिखाएँ

यदि आपको तेज बुखार, जोड़ों में तीव्र दर्द और ऊपर बताए लक्षणों में से कोई सा लक्षण है तो डॉक्टर से संपर्क करें।



मच्छर का रोग, वायरस संक्रमण, चिकनगुनिया, जोड़ों के दर्द, जोड़ों में दर्द, चिकनगुनिया से निवारण, Chikungunya rog, Chikungunya ki roktham aur jatiltain, Chikungunya se bachav aur nivaran, Chikungunya doctor ko kab dikhayein,

Comments are closed.