सेलुलाइटिस: लक्षण और कारण

सेलुलाइटिस लक्षण – लालिमा, सूजन, पीड़ा या नाजुकता, दर्द, गर्मी. सेलुलाइटिस कारण – सेलुलाइटिस उत्पन्न करने वाले दो सबसे सामान्य प्रकार के बैक्टीरिया स्ट्रेप्टोकोकस और स्टेफायलोकोकस हैं।.

सेलुलाइटिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

सेलुलाइटिस आहार – लेने योग्य आहार: विटामिन सी का सेवन सेलुलाइटिस ठीक होने की गति को तेज करता है। विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध फलों में ग्रेपफ्रूट, संतरे, स्ट्रॉबेरीज, टमाटर, कीवी और केंटालूप आते हैं। खट्टे फल, अंगूर और जामुन में शक्तिशाली वनस्पति यौगिक, जिन्हें फ्लेवोनाइड्स कहते हैं, पाया जाता है जिसका सेलुलाइटिस के लक्षणों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। सब्जियाँ जैसे हरी और लाल शिमला मिर्च, ब्रोकोली, ब्रसल्स स्प्राउट्स, पत्तागोभी, उबले आलू, रतालू और विंटर स्क्वाश (कद्दू का एक प्रकार) आदि विटामिन सी के बढ़िया स्रोत हैं।

सेलुलाइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

सेलुलाइटिस रोकथाम – अपने कटे और छिले हिस्सों की चिकित्सा करें। अपनी त्वचा को खुरचने और संक्रमित होने वाली अनुकूलताओं को घटाएँ। अपनी त्वचा को शुष्क ना होने दें, उसे नियमित नमी प्रदान करते रहें। यदि आप अत्यधिक वजनी हैं तो वजन कम करें।.

सेलुलाइटिस: प्रमुख जानकारी और निदान

सेलुलाइटिस त्वचा की सबसे गहरी परत (डर्मिस) और त्वचा के ठीक नीचे स्थित वसा और ऊतकों की भीतरी परत (सबक्यूटेनियस ऊतकों) का संक्रमण है।.