लेरिन्जाइटिस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

लेरिन्जाइटिस आहार – लेने योग्य आहार: विटामिन सी से समृद्ध आहार। प्रोटीनयुक्त आहार जैसे चिकन और मछली शरीर को संक्रमण से मुकाबला करने के लिए प्रोटीन और जिंक के रूप में निर्माण पदार्थ देते हैं। नीबू के रस का अम्लीय प्रभाव बैक्टीरिया को नष्ट करता है और लेरिन्जाइटिस के विभिन्न लक्षणों को दूर करता है।

लेरिन्जाइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

लेरिन्जाइटिस रोकथाम – धूम्रपान ना करें और अन्य लोगों द्वारा धूम्रपान के समय दूर रहें। रात्रि में भारी भोजन और सोने के समय कुछ भी आहार ना लें। ऊपरी श्वसन तंत्र के संक्रमण से बचाव बनाए रखें।.

लेरिन्जाइटिस: लक्षण और कारण

लेरिन्जाइटिस लक्षण – डिस्फोनिया (भारी आवाज) या एफोनिया (बोल ना पाना)। शुष्क, पीड़ा, जलनयुक्त गला। खाँसी होना। डिस्फेजिया (निगलने में कठिनाई)।. लेरिन्जाइटिस कारण – एसिड का आहारनली में वापस लौटना। एलर्जी, अत्यधिक खाँसी, धूम्रपान या शराब का सेवन।.

लेरिन्जाइटिस: प्रमुख जानकारी और निदान

लेरिन्जाइटिस लेरिंक्स (कंठ-ध्वनियंत्र) की सूजन को कहते हैं।.