पार्किन्सन्स: रोकथाम और जटिलताएं

पार्किन्सन्स रोकथाम – सावधानी से चलें। विटामिन सी और डी के पूरकों का सेवन। चुस्त बने रहने के लिए नियमित व्यायाम और योग करें।.

पार्किन्सन्स: प्रमुख जानकारी और निदान

पार्किन्सनिस्म तंत्रिका सम्बन्धी विकार समूह है जो कम्पन, गति के धीमेपन, अकड़न तथा शारीरिक भंगिमा के अस्थायित्व से प्रदर्शित होता है।.

पार्किन्सन्स: लक्षण और कारण

पार्किन्सन्स लक्षण – नियंत्रित गतिविथियों का धीमा पड़ना। चेहरे के भावों और आँखों के झपकने में कमी आना। बोलने में एकरूपता होना। पैर घसीटते हुए चलना।. पार्किन्सन्स कारण – यह विकार डोपामाइन उत्पन्न करने वाली तंत्रिका कोशिकाओं (डोपामिनर्जिक कोशिकाओं) की क्षति या उनके नष्ट होने से होता है, जो मस्तिष्क के लिए माँसपेशियों की गति पर नियंत्रण और संयोजन को कठिन कर देता है।.

पार्किन्सन्स: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

पार्किन्सन्स आहार – लेने योग्य आहार: उच्च रेशा युक्त आहार जैसे सब्जियाँ, पकी हुई सूखी मटर और फलियाँ (दालें), साबुत अनाज के आहार, चोकर, दलिया, पास्ता, चावल और ताजे फल, पानी अधिक मात्रा में पियें। हलके, मृदु आहार लें (जैसे नमकीन क्रैकर्स या सादी ब्रेड)।