केरेटोकोनस: लक्षण और कारण

केरेटोकोनस लक्षण – बढ़ते हुए निकट दृष्टिदोष के साथ दृष्टि का धुंधला या विकृत होना। चमकीले प्रकाश और उजाले के प्रति संवेदनशीलता। रात्रि में दृष्टि सम्बन्धी समस्या।. केरेटोकोनस कारण – केरेटोकोनस की उत्पत्ति का कारण अज्ञात है। हालाँकि, इसे अनुवांशिक स्थिति या हार्मोन सम्बन्धी विसंगति के कारण उत्पन्न माना जाता है।.

केरेटोकोनस: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

केरेटोकोनस आहार – आहार में एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध आहार जैसे गाजर, पालक, पपीता, ब्राज़ील नट्स, अंडे, केल, पीली मक्का, बादाम, सूरजमुखी के बीज, संतरे, केले, सेब। एंटीऑक्सीडेंट को विभिन्न आहारों से प्राप्त किया जाता है जैसे फल, सब्जियाँ, मेवे, अनाज, मीट, मछली और पोल्ट्री। प्रोसेस्ड आहार, कृत्रिम मीठे पदार्थ, तले फल, संतृप्त वसा और रिफाइंड शक्कर।

केरेटोकोनस: रोकथाम और जटिलताएं

केरेटोकोनस रोकथाम – आँखों को बार-बार और जोर से ना रगड़ें या मसलें। नेत्र चिकित्सक द्वारा नियमित परीक्षण।.

केरेटोकोनस: प्रमुख जानकारी और निदान

केरेटोकोनस एक असामान्य स्थित है जिसमें आमतौर पर गोलाकार, गुम्बदनुमा रहने वाला कॉर्निया (आँख की स्वच्छ सम्मुख पाई जाने वाली खिड़की), पतली हो जाती है और कोन की तरह के आकार में उभर आती है।.