कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS): लक्षण और कारण

कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS) – लक्षण – हाथ के तल और उंगलियों में जलन, झुनझुनी या खुजलीयुक्त गुदगुदी, खासकर अंगूठे, तर्जनी और मध्यमा उंगली में। थोड़ी या बिना दिखाई देने वाली सूजन के साथ उंगलियों का निष्क्रिय और फूला हुआ प्रतीत होना।. कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS) – कारण – कलाई को लगी चोट या आघात। चिकित्सीय स्थितियाँ।.

कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS) – आहार – लेने योग्य आहार इनसे परहेज करें: एंजाइम पूरक जैसे ब्रोमेलैन या एंजाइम के मिश्रित उत्पाद (उदाहरण के लिए वोबेंजाइम) कार्पल टनल सिंड्रोम से जुड़ी ऊतकों की सूजन को कम करने में सहायक होते हैं। ब्रोमेलैन का मुख्य स्रोत अन्नानास है।
, फोलिक एसिड से समृद्ध सब्जियाँ क्योंकि इस प्रकार की सब्जियाँ मांसपेशियों के निर्माण में और ऊतकों में स्थित सूजन को कम करने में सहायता करती हैं।
, कार्पल टनल सिंड्रोम के रोगी के आहार में ताजे फल भी अत्यंत आवश्यक होते हैं। ये फल मांसपेशियों की वृद्धि के लिए आवश्यक खनिज और विटामिन प्रदान करते हैं। केलों में पोटैशियम उपलब्ध होता है।
,

कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS): रोकथाम और जटिलताएं

कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS) – रोकथाम – रोग का शीघ्र निर्धारण और चिकित्सा। भारी वस्तुएँ ना उठाएँ। जीवन शैली में सुधार।.

कार्पल टनल सिंड्रोम (CTS): प्रमुख जानकारी और निदान

कार्पल टनल सिंड्रोम (सीटीएस) हाथ का दर्द्युक्त विकार है जो कलाई से होकर गुजरने वाली तंत्रिकाओं पर पड़े दबाव के कारण उत्पन्न होता है।.

कलाई का दर्द: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

कलाई का दर्द – आहार – लेने योग्य आहार: ओमेगा 3 फैटी एसिड जोड़ों के दर्द और सूजन में सहायता करने वाले आहारों में आता है जो कि मछली, अखरोट और जैतून के तेल में पाया जाता है। गहरी हरी पत्तेदार सब्जियाँ, विटामिन सी और ई से समृद्ध आहार जिनमें एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं, दर्द और सूजन के लिए उपयोगी अन्य आहारों में आते हैं। विटामिन सी के उत्कृष्ट स्रोतों में अजमोदा, ब्रोकोली, संतरे, स्ट्रॉबेरी, पपीता, फूलगोभी और केल आते हैं।

कलाई का दर्द: रोकथाम और जटिलताएं

कलाई का दर्द – रोकथाम – कलाइयों की गति वाली गतिविधियों में समय-समय पर विराम लेते रहें। शराब का सेवन सीमित करें। यदि आप अत्यधिक वजनी हैं तो वजन कम करें।.

कलाई का दर्द: लक्षण और कारण

कलाई का दर्द – लक्षण – मुट्ठी बाँधने या वस्तुओं को पकड़ने में कठिनाई। हाथों का सुन्न होने (सो जाने) का एहसास। एकाएक तीव्र दर्द।. कलाई का दर्द – कारण – कलाई के दर्द के दो प्रमुख कारण हैं कार्पेल टनल सिंड्रोम और कलाई के तंतुओं में सूजन का होना। ये दोनों समस्याएँ कलाई के अधिक प्रयोग और चोटों के कारण उत्पन्न हुई मानी जाती हैं।.

कलाई का दर्द: प्रमुख जानकारी और निदान

कलाई का दर्द अर्थात कलाई में कोई दर्द या असहजता। यह अत्यंत आम शिकायत है।.