डिफ्थीरिया: रोकथाम और जटिलताएं

डिफ्थीरिया रोकथाम – टीकाकरण। रोग का शीघ्र निर्धारण और चिकित्सा।.

डिफ्थीरिया: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

डिफ्थीरिया आहार – लेने योग्य आहार: तरल (फलों का रस)।
, दूध।
, लहसुन।
,

डिफ्थीरिया: लक्षण और कारण

डिफ्थीरिया लक्षण – उच्च तापमान वाला बुखार। गले में खराश। बैठी हुई आवाज (गहरा और भारी स्वर)। कंपकंपी।. डिफ्थीरिया कारण – कोराइनीबेक्टेरियम डिफ्थीरी द्वारा डिफ्थीरिया होता है।.

डिफ्थीरिया: प्रमुख जानकारी और निदान

डिफ्थीरिया ऊपरी श्वसन तंत्र का रोग है जो कोराइनीबेक्टेरियम डिफ्थीरी द्वारा होता है।.

यूआरटीआई: रोकथाम और जटिलताएं

यूआरटीआई रोकथाम – जिन लोगों को संक्रमण हो सकता है उनके साथ संपर्क घटाएँ। खाँसते और छींकते समय चेहरा ढंकें। फ्लू का टीका लगवाएँ।.

यूआरटीआई: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

यूआरटीआई आहार – लेने योग्य आहार:: लेने योग्य आहार में प्राकृतिक खाद प्रयुक्त ताजी सब्जियाँ, गुणवत्ता युक्त पशु उत्पाद जो विटामिन A और D से समृद्ध हों जैसे मछली, अंडे, खमीर युक्त आहार, घर पर चिकन द्वारा तैयार किया बोन ब्रोथ जो कि फेफड़ों के स्वस्थ रहने हेतु उत्तम है। विटामिन C से समृद्ध आहार जैसे कि ताजी और सुखाई हुई सब्जियाँ, हरी मिर्च, ब्रोकोली, फूलगोभी, ब्रसल स्प्राउट्स, अमरुद, स्ट्रॉबेरी, पपीता लेने चाहिए। अदरक युक्त चाय सर्दी से आराम दिलाती है।

यूआरटीआई: लक्षण और कारण

यूआरटीआई लक्षण – छींक, खाँसी, नाक बहना, गले में खराश, बुखार. यूआरटीआई कारण – वायरस और बैक्टीरिया.

यूआरटीआई: प्रमुख जानकारी और निदान

यूआरटीआई वायरस अथवा बैक्टीरिया द्वारा ऊपरी श्वसन तंत्र, श्वासनलिका, और नाक में स्थित छिद्रों का तीव्र संक्रमण है। इसमें गले में खराश, बढ़े हुए टॉन्सिल्स, सिरदर्द, बुखार, शरीर में दर्द और सूखी खांसी होती है।.

ब्रोंकाइटिस: रोकथाम और जटिलताएं

ब्रोंकाइटिस रोकथाम – फ्लू और निमोनिया के टीके लगवाएं। तम्बाकू का धुंआ और अन्य धुल भरे कण। अपने आस पास का वातावरण कीटाणुमुक्त रखें।.

ब्रोंकाइटिस: प्रमुख जानकारी और निदान

ब्रोंकाइटिस साँस की बीमारी है जो ब्रोन्कियल नलिकाओं (ब्रांकाई), जो कि नाक और फेफड़ों के बीच का हवा के लिए स्थान है, की परतों की सूजन द्वारा प्रकट होता है।.